fbpx

इंग्लिश काउंटी चैंपियनशिप सीजन 2024 के पहले 8 राउंड में सनसनीखेज बल्लेबाजी के नाम पर नॉर्थईस्ट (लगातार पारी में 166* और 335* यानि कि आउट हुए बिना 501 रन), हसीब हमीद (247* सहित मैच में लगभग 24 घंटे ग्राउंड पर) और डेविड बडिंगम (6 चैंपियनशिप मैच की 10 पारी में 5 शतक- इनमें से 4 लगातार पारी में) ही ऐसे ख़ास प्रदर्शन थे जब बल्लेबाज चर्चा में रहे। टी20 ब्लास्ट के बाद जब काउंटी चैंपियनशिप आगे खेले तो ऐसा लगा मानो तूफ़ान ही आ गया। कुछ ही घंटे के अंदर जोरदार बल्लेबाजी के कई रिकॉर्ड बदल गए।

सबसे पहले शोएब बशीर ने एक ओवर में सबसे ज्यादा 38 रन देने के चैंपियनशिप रिकॉर्ड की बराबरी की- सामने बल्लेबाज थे सरे के डैन लॉरेंस। नोट करने वाली बात ये है कि बशीर तो समरसेट के खिलाड़ी हैं पर चूंकि उनकी टीम उन्हें खिला नहीं रही थी तो उन्हें लोन पर वूरस्टरशायर को दे दिया और ये इस नई टीम के लिए उनका चैंपियनशिप डेब्यू था। डैन ने इस ओवर में पहली 5 गेंद पर लगातार छक्के लगाते हुए कर करियर का सबसे बड़ा स्कोर (175) बनाया- 223 गेंद पर।

एक ओवर में 38 रन देने का रिकॉर्ड पहली बार 1998 में बना था- तब गेंदबाज सरे के एलेक्स ट्यूडर थे और ग्राउंड ओल्ड ट्रैफर्ड था- इस ओवर में एंड्रयू फ्लिंटॉफ ने 5 छक्के और एक 4 लगाए थे। बशीर का ओवर भी 8 गेंद का था- एक वाइड जिस पर 4 बाई गए (गेंदबाज के अकाउंट में 5 रन आए) और एक नो-बॉल भी (1 रन जो गेंदबाज के अकाउंट में 3 गिने गए)। इंग्लिश काउंटी  क्रिकेट में नो बॉल पर 2 रन बनते हैं।

ये वही बशीर हैं जो पिछले भारत टूर में इंग्लैंड की टीम में थे- टेस्ट डेब्यू किया और 3 टेस्ट में 17 विकेट लिए। दूसरी तरफ इसी टीम में लॉरेंस भी थे और उन्होंने न्यू रोड एंड पर छोटी सीधी बाउंड्री का पूरा फायदा उठाया पर किस्मत भी उनके साथ थी- तीसरा छक्का वास्तव में लॉन्ग-ऑन पर कैच था पर कैच लपकते हुए एडम होज का पैर बाउंड्री रोप पर आ गया। लॉरेंस तो एक ओवर में 6  छक्कों के रिकॉर्ड को बराबर करने के मूड में थे लेकिन बशीर ने 6 वीं गेंद को लेग साइड में फेंक कर रिकॉर्ड न बनने दिया। 

अभी इस रिकॉर्ड की चर्चा चल ही रही थी कि ससेक्स के ओली रॉबिन्सन ने एक ओवर में रिकॉर्ड 43 रन दे दिए और लुइस किम्बर नाम के बल्लेबाज ने धमाल किया। लेस्टरशायर के इस बल्लेबाज ने एक समय तो 9 गेंद पर 8 चौके लगाकर काउंटी चैंपियनशिप के सबसे तेज और फर्स्ट क्लास क्रिकेट के दूसरे सबसे तेज 200 बनाए (100 गेंद में)। सबसे तेज 200 : शफीकुल्लाह शिनवारी, काबुल आर- बूस्ट आर, कुनार क्रिकेट ग्राउंड, असदाबाद, 2018- 89 गेंद में। जब ये ओवर शुरू हुआ तो किम्बर 72 रन थे और ओवर खत्म होने पर 109 रन पर।
किम्बर ने इस पारी में कुल 243 रन बनाए (127 गेंद पर), रिकॉर्ड बुक में कई रिकॉर्ड बदले और जिस ओवर में सबसे ज्यादा 43 रन देने का रिकॉर्ड बना- उसमें 37 रन बनाए। उस रिकॉर्ड ओवर को देखिए : गेंद 1- 6, गेंद 2- नो-बॉल + 4 = 6, गेंद 3- 4, गेंद 4- 6, गेंद 5- 4, गेंद 6- नो-बॉल + 4 = 6, गेंद 7- 4, गेंद 8- नो-बॉल +4 = 6 और गेंद 9- 1 रन। कुल 43 रन।  
इतना ही नहीं- चैंपियनशिप के इतिहास में एक पारी में सबसे ज्यादा अधिक छक्के (21) भी लगाए- 17वें छक्के के साथ 200 रन पूरे किए थे। तब भी डिवीजन 2 के इस मैच में वे 464 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए लेस्टरशायर को आश्चर्यजनक जीत दिलाने से चूक गए- आउट होने वाले आख़िरी बल्लेबाज थे और ससेक्स ने मैच 18 रन से जीत लिया।

ये क्रिकेट के सबसे बड़े आश्चर्य में से एक है कि कैसे कम मशहूर बल्लेबाज भी एकदम ऐसा कमाल का प्रदर्शन कर जाते हैं। इस मैच से पहले किम्बर ने जो 30 फर्स्ट क्लास मैच खेले थे उन में सिर्फ एक 100 बनाया था- 104 रन, 2022 में ससेक्स के विरुद्ध ही। वे वास्तव में विकेटकीपिंग-बल्लेबाज हैं और कितने बेहतर उसका सबूत ये है कि इस पारी से पहले उनका फर्स्ट क्लास बल्लेबाजी औसत सिर्फ 24.65 था। 

इस बार वे कमाल के मूड में थे। नंबर 8 पर बल्लेबाजी की- उस दिन की सुबह के तीसरे ओवर में और तब भी लंच तक 92 गेंद पर 191 रन बना लिए थे। लेस्टरशायर ने 29 ओवर के उस सेशन में 236 रन बनाए। लंच के बाद लेस्टरशायर जीत के 50 रन करीब थे और 3 विकेट बचे थे लेकिन उसके बाद पासा पलट गया।

इस तरह शोएब बशीर का यह अनचाहा रिकॉर्ड दो ही दिन बाद रॉबिन्सन के नाम हो गया- पिछले 12 ओवर में सिर्फ 22 रन देने के बाद ऐसी पिटाई का तो सोचा भी नहीं होगा उन्होंने।  
इन रिकॉर्ड की चर्चा करते हुए, काउंटी चैंपियनशिप से दूर, अंडर 19  क्रिकेट के एक नज़ारे का जिक्र जरूरी है। इंग्लैंड अंडर-19 ने लॉफबोरो में अंडर-19 इनविटेशन इलेवन के साथ एक मैच खेला। ये मैच, कई जाने-पहचाने नाम वाले खिलाड़ियों की बदौलत खूब चर्चा में रहा। इंग्लैंड के स्पिनर रेहान के भाई फरहान अहमद और समरसेट के बल्लेबाज जेम्स के भाई थॉमस रेव इनविटेशन इलेवन के लिए खेले जबकि भूतपूर्व खिलाड़ी और इस समय लेंकशायर के चीफ कोच डेल के बेटे ल्यूक बैंकनस्टीन और इंग्लैंड के खिलाड़ी फिल के बेटे हेडन मस्टर्ड खेले इंग्लैंड जूनियर लायंस टीम में। इंग्लैंड जूनियर लायंस ने मैच में दो विकेट से जीत दर्ज की। 

सबसे ज्यादा चर्चा में रहे इंग्लैंड के दो कप्तानों के बेटे। माइकल वॉन के बेटे आर्ची वॉन इनविटेशन इलेवन के लिए खेले और उनके टॉप स्कोरर रहे (83 गेंद में 11 चौकों की मदद से 85 रन) और 16 साल के रॉकी फ्लिंटॉफ (एंड्रयू के बेटे)- जूनियर लायंस के लिए 111 गेंद में 106 रन बनाकर और भी बेहतर प्रदर्शन किया। वॉन ने गेंदबाजी की शुरुआत भी की और 8 ओवर में 83 रन देकर दो विकेट लिए। फ्लिंटॉफ उस जूनियर लायंस टीम में हैं जो श्रीलंका से सीरीज में खेलेगी। 

  • चरनपाल सिंह सोबती

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *